अगली बार कुंडली लाना राशन कार्ड नही

ज्योतिषी : तुम्हारा नाम कविता है ?
कविता : जी महाराज
ज्योतिषी : प्रीत तेरे पति का नाम है ?
कविता : जी जी महाराज (हाँथ जोड़ते हुए)
ज्योतिषी : तेरे दो लड़के और एक लड़की है ?
कविता : जी जी महराज (आश्चर्य से झुक कर प्रणाम करते हुए)
ज्योतिषी : तूने कल 10 किलो चावल खरीदे है ?
कविता : पैरो पर गिर कर महराज आप तो अंतरयामी हो
ज्योतिषी : अगली बार कुंडली लाना राशन कार्ड नही
cheekylaughcheekylaughcheekylaughcheekylaughcheekylaugh

Leave a Reply